Thursday, December 19, 2013

भगत सिंह छात्र मोर्चा के सचिव रितेश विद्यार्थी व कार्यकारिणी सदस्य रोहित और रामलखन यादव पर जानलेवा हमले का विरोध करे !

    गत १७ दिसंबर २०१३ कि घटना है दोपहर करीब १२ बजे बीएचयू के छात्र और भगत सिंह छात्र मोर्चा के सचिव रितेश विद्यार्थी व कार्यकारिणी सदस्य रोहित बीएचयू के छित्तूपुर गेट के पास चाय की दुकान पर चाय पी रहे थे, तभी शशांक पाण्डेय,(अभिनव सिंह ,नवप्रभात ,मुकुंद राय,रवीश राय व अन्य) १०-१२ लोगों के साथ आया और हांकी,लाठी,स्टम्प,फाइटर जैसे हथियारो से उन पर जानलेवा हमला कर दिया | रोहित और रितेश  इस भयानक मार से लहूलुहान हो कर बेहोश हो गए |
 
 
 
    ऐसी स्तिथि में रामलखन यादव जो रितेश का सहपाठी था, घायल लोगों को लाद कर किसी तरह अस्पताल ले गया | वहाँ पहले से ही गुंडे जमा थे, जिन्होंने पुनः रामलखन पर हमला कर दिया जिससे रामलखन यादव के सिर में गम्भीर चोट आयी है वह आई०सी०यू० में भर्ती है और जीवन -मृत्यु के संघर्ष से जूझ रहा है |
 
 
     घटना की जड़ में हमलावरो के आपराधिक कृत्यों का समय-समय पर विरोध दर्ज करना और बीएचयू प्रशासन का हमलावरो के खिलाफ कोई कार्यवाही न करना रहा है | ये गुंडे छात्राओं के साथ छेड़खानी करते है,आम छात्रों को मारते-पीटते है |
 



 
      रितेश इन आपराधिक कृत्यों का अपने संगठन भगत सिंह छात्र मोर्चा (बीसीएम) और अन्य छात्रों के साथ मिलकर विरोध करते रहते थे और बीएचयू प्रशासन से इस अपराधो पर रोक लगाने की मांग करते थे | नतीजा यह रहा की रितेश पर विगत ४ सितम्बर को इन्ही गुंडों ने भगत सिंह की जयंती पर अपने संगठन के सम्मलेन का परचा बाटते समय प्रोक्टोरियल बोर्ड के गाड़ी से निकाल कर मारा |

  बीएचयू इन हमलावर छात्रों के खिलाफ कोई अनुशासनात्मक कार्यवाही नहीं की | इससे सह पाकर पुनः इन हमलावरो ने रितेश के हॉस्टल के कमरे पर ११ नवम्बर को तोड़फोड़ की | बीएचयू प्रशासन यहाँ भी गुंडें तत्वों के खिलाफ कार्यवाही करने की बजाय उल्टी कार्यवाही करते हुए पीड़ित रितेश विद्यार्थी के हास्टल का कमरा सील कर दिया |

   ये सभी तथ्य बीएचयू प्रशासन की हमलावरों के प्रति सहानुभूति और साथ-गांठ को दर्शाता है | बीएचयू प्रशासन के इसी रुख का नतीजा विगत १७ दिसंबर की घटना के लिए जिम्मेदार है | ये हमलावर अब भी रितेश,रोहित और उनके साथियों को जान से मारने की धमकी दे रहे है |
 
 
 भगत सिंह छात्र मोर्चा सभी जनवादी छात्र-छात्राओं,बुद्धिजीवियों,पत्रकारों ,लेखकों, एवं संगठनो से अपील करता है कि इस घटना का विरोध करे !