Saturday, August 29, 2015

कर्मचारियों के समर्थन में बीसीएम ने वीसी का किया पुतला दहन


          कर्मचारियों का आंदोलन ज़िंदाबाद !
भगत सिंह छात्र मोर्चा ने विश्वविद्यालय प्रशासन के तानाशाही पूर्ण रवैये के खिलाफ वाईस चांसलर का पुतला फूँका


साथियों,

      जैसा की आप सब को पता है "BHU के जल एवं आपूर्ति विभाग से निष्कासित 40 संविदा कर्मचारियों का अनिश्चित भूख हड़ताल जारी है .भगत सिंह छात्र मोर्चा ने पहले ही इस आंदोलन का समर्थन किया है |

आपको ये बताते चले की ये आंदोलनकर्मी 25 /8 /2015 से ही भूख हड़ताल पर बैठे है लेकिन अफ़सोस की BHU प्रशासन का एक भी अधिकारी अभी तक इनकी सुध लेने नही पंहुचा .प्रशासन के इस फासीवादी रवैये के खिलाफ भगत सिंह छात्र मोर्चा ने 28 /8 /2015 की शाम लंका गेट BHU पर वाईस चांसलर का पुतला फूंका जिसमे अनूप ,अनुपम ,आरती,शैलेश,मनीष,विनय ,मनीष विनोद,सिद्धांत,युद्देश आदि शामिल थे ,जिसके बाद यह कार्यक्रम सभा में बदल गया |


      जिसमे BCM के अध्यक्ष शैलेश जी ने छात्रों और कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि  "यह सिर्फ 40 कर्मचारियों की लड़ाई नही है बल्कि छात्रों और शिक्षको की भी है आज जिस तरह का अलोकतांत्रिक और गैरराजनीतिक माहौल विश्वविदयालय परिसर में है इसके भयंकर परिणाम आगे देखे जा सकते है .अभी तो यह शुरुआत है जहां मजदूरो के लोकतान्त्रिक अधिकारों का हनन हो रहा है ,धीरे -धीरे शिक्षको और छात्रों की बारी है .विश्विद्यालय में एक ख़ास तरह की साम्प्रदायिक मानसिकता (आरएसएस की मानसिकता )को विकसित किया जा रहा है .और यह सिलसिला नए V .C के आने बाद बहुत तेज़ी से फ़ैल रहा है .जिसका एक परिणाम सामने है |"

इस बीच "मशाल सांस्कृतिक मंच" की ओर से युद्देश बेमिसाल जी ने आंदोलनकर्मियो के उत्साह को बढ़ाने के लिए "मिलजुल गढ़े चला हिंदुस्तान भैया " जैसे क्रन्तिकारी और जनवादी गीत को गया | और अंत में भगत सिंह छात्र मोर्चा ने इस मोर्चे पर सभी को साथ मिलकर लड़ने के लिए प्रेरित किया और साथ ही साथ BHU परिसर में छात्र संघ,शिक्षक संघ,कर्मचारी संघ जल्द से जल्द बहाल करने की मांग की .
इंकलाब जिंदाबाद !!!